Gharelu Nuskhe DetailBack

HospitalSKundali

दालचीनी के सेवन से पाएं बेहतर मानसिक विकास व स्मरण शक्ति

 शिशु के पैदा होने से लेकर किशोरावस्था तक शारीरिक आैर मानसिक विकास तीव्र गति से होता है। इस दौरान कुछ बच्चे इस दौड में पिछड जाते है। लेकिन नए शोध में एक बात साबित हुर्इ है कि रसोर्इ में मौजूद दालचीनी जैसे मसाले मानसिक विकास में बेहतर साबित हो सकते है। अक्सर कर्इ मां बाप इस बात से परेशान रहते हैं कि उनका बच्चा स्लो लर्नर उसे कुछ भी याद कराना काफी मुश्किल है।
यूं तो ये सामान्य बात है लेकिन मां.बाप अक्सर ऐसे बच्चों की तुलना दूसरे बच्चों से करने लग जाते हैं पर उन्हें ये समझना चाहिए कि हर बच्चा एकण्सा नहीं हो सकता है। हर बच्चे की फिजीकल और मेंटल ग्रोथ रेट अलग अलग होती है। वो उसी के अनुसार विकास करता है। ऐसे में अपने बच्चे को कमतर आंकना ठीक नही है। स्लो लर्नर होने के कई कारण हो सकते हैं एक कारण ये भी हो सकता है कि उस विषय में आपके बच्चे की रूचि न हो इसके अलावा ये भी हो सकता है कि उसे उन चीजों का पोषण नहीं मिल पा रहा हो।
अगर आपके बच्चे को भी ये तकलीफ है तो अब घबराने की जरूरत नहीं है बच्चे को हर रोज कुछ मात्रा में दालचीनी देकर आप उसके मानसिक विकास को बेहतर बना सकते हैं। एक शोध में पाया गया है कि दालचीनी के सेवन से स्मरण शक्ति बेहतर होती है। फिलहाल ये शोध चूहों पर खरा साबित हुअा है। अमेरिका की शिकागो यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर कालीपद पहान के मुताबिक कमजोर छात्रों को बेहतर छात्र बनाने के लिए यह सबसे सुरक्षित और आसान तरीका हो सकता है।
इस शोध के तहत चूहों को दालचीनी मिलाकर खाना दिया गया जिसे उनकी बॉडी ने रसायनिक क्रिया के बाद सोडियम बेंजोएट में बदल दिया। सोडियम बेंजोएट वो केमिकल है जिसे ब्रेन हैमरेज के दौरान इस्तेमाल किया जाता है। यह शोध यूरोइम्यून फॉर्माकोलॉजी पत्रिका में प्रकाशित किया गया।