Gharelu Nuskhe DetailBack

HospitalSKundali

पानी से कंट्रोल होता है माइग्रेन


तनाव एवं मानसिक उत्तेजना:-
 
ब्राह्मी 2.5 ग्राम, शंखपुष्पी 2.5 ग्राम, 5 बादाम, सौंफ 2.5 ग्राम, 15-20 गुलाब के फूल, 2-3 पिसी इलायची आदि को रात में आधे गिलास पानी में भिगो दें। सुबह थोड़े दूध के साथ अच्छी तरह पीसकर, मिश्री मिलाकर 250 ग्राम ठंडे दूध में घोलकर छानकर पी लें।
कुछ दिन लगातार पीने से मानसिक उत्तेजना, तनाव एवं अनिद्रा में फायदा होता है।
 
उच्च रक्तचाप व अनिद्रा:- 
 
                                                                      
सोने से आधा घंटा पहले एक गिलास गुनगुने दूध में आधा चम्मच ब्राह्मी की पत्तियों का बारीक पाउडर मिलाकर पीने से गहरी नींद आती है।  जिससे तनाव के साथ उच्च रक्तचाप कम हो जाता है।
 
दुबले.पतले शरीर वालों की तुलना में भारी शरीर वाले लोगों में माइग्रेन की शिकायत 81 प्रतिशत तक ज्यादा रहती है। इससे पहले चिकित्सा विज्ञानियों ने मोटे लोगों को क्रॉनिक.माइग्रेन का शिकार पाया थाए लेकिन हाल ही हुए शोध में यह सामने आया है कि कभी.कभार होने वाले अटैक की संख्या भी मोटे लोगों में दुबले.पतलों से ज्यादा रहती है। इसका एक कारण बढ़ते वजन के बारे में लगातार सोचना भी है।
 
पानी से कंट्रोल होता है माइग्रेन :-
                                                                         
पानी पीने से सिरदर्द.माइग्रेन दूर होता है। एक नए शोध में यह बात सामने आई है। सिरदर्द और माइग्रेन से परेशान रहने वाले रोगियों को पानी पीते रहने से काफी राहत मिलती है। साथ ही पानी पीते रहने से सिरदर्द और माइग्रेन की तेजी को कम भी किया जा सकता है। गौरतलब है कि नीदरलैंड की मास्टरिचट विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने पाया कि प्रतिदिन करीब सात गिलास पानी पीने से सिर दर्द और माइग्रेन में राहत मिलती है।
 
माइग्रेन में न लें दवा :-
 
माइग्रेन में दर्द 2 से 72 घंटे तक हो सकता है। ये बेहद तकलीफदेह होता है। इसके लिए ये वैकल्पिक उपचार कारगर हैं।
 
*सिर दर्द होने पर बिस्तर पर लेट कर दर्द वाले हिस्से को बेड के नीचे लटकाएं। सिर के जिस हिस्से में दर्द होए उस तरफ वाली नाक में सरसों के तेल की कुछ बूंदें डालें,   फिर जोर से सांस ऊपर की ओर खीचें। इससे सिर दर्द में राहत मिलेगी।
 
*दालचीनी पीसकर पानी मिलाकर पेस्ट बनाएं। माइग्रेन के दर्द से बचने के लिए इसे माथे पर लगाएं। काफी आराम मिलेगा।
 
इन चीजों का नहीं सुना होगा नाम, इनका रस पीने से पास नहीं फटकेगी चिंता
 
*गाजर और खीरा खूब खाएं। इनमें मैग्रिशियम होता हैए जिससे सिरदर्द में आराम मिलता है। अंगूर के रस का सेवन माइग्रेन के इलाज में सहायक होता है। इसके अलावा गाजर, चुकंदर, पालक, खीरे के रस का सेवन प्रभावी होता है। विटामिन बी से भरपूर चीजों का सेवन करें। विटामिन माइग्रेन रोगियों के लिए आवश्यक माना गया है। गाजर का रस और पालक का रस पीएं। इससे माइग्रेन में बहुत आराम मिलता है।
 
*मछली खाने से भी माइग्रेन कम होता है। इसमें पाया जाने वाला ओमेगा 3 फैटी एसिड दर्द से राहत देता है। मछली के तेल से सिर की मालिश करने से भी आराम मिलता है। इसके अलावा कपूर को घी में मिला कर सिर पर हल्के हाथों से मालिश करें। इससे दर्द में आराम मिलेगा।
 
*नाक से भाप देकर माइग्रेन रोग को ठीक किया जा सकता है। इसके लिए एक बर्तन में पानी गर्म करके भाप लेनी होती है। ऐसा करने से कुछ दिनों में रोग ठीक हो जाता है।