Gharelu Nuskhe DetailBack

HospitalSKundali

स्‍वस्‍थ व मजबूत दांत पाने के लिये क्या करें |

संपूर्ण स्वा‍स्‍थ्‍य के लिए ‘स्वस्थ दांत’ आवश्यक होते हैं। दांत ना सिर्फ हमारे स्वा‍स्थ्ये को प्रभावित करते हैं, बल्कि हमारे लुक को भी प्रभावित करते हैं, इसलिए दांतों की समस्याओं को नज़रअंदाज़ ना करें।
दांतों की स्वच्छता का मतलब और तरीका हर किसी के लिए अलग होता है। हममें से अधिकतर लोग ब्रशिंग की कला बचपन में ही सीखते हैं और हैरानी की बात है कि ज्यादातर लोग ठीक प्रकार से ब्रश नहीं करते। चिकित्सकों की राय है कि प्रतिदिन ब्रश करने के बाद जीभ ज़रूर साफ करें।

 

* दिन में कम से कम दो बार ब्रश करना चाहिए और ब्रश करने के बाद नमक पानी से कुल्ला  करना चाहिए या माउथवाश करना चाहिए। ब्रशिंग के सही तरीके से अवगत होना दांतों की सुरक्षा का पहला कदम है।
 
आइये दांतों से संबंधी तथ्यों पर प्रकाश डालें।

 

   

दांतों की सफाई

ब्रश करने के लिए कोई मानक समय नहीं है। लेकिन ऐसी सलाह दी जाती है कि कम से कम दो मिनट तक ब्रश करें जिससे मुंह के अंदर की सतह से प्लेक के बैक्टीरिया निकल जायें। इससे दांतों की क्षति से भी बचाव हो सकेगा।

 
 

कैसा हो आपका टूथब्रश

अगर 6 महीनों तक ब्रश करने के बाद भी आपका ब्रश खराब नहीं हुआ है, तब भी नया ब्रश खरीदने में देरी ना करें। टूथब्रश अलग-अलग आकार, लम्बाई और गुणवत्ता के आते हैं। लेकिन डेंटिस्ट्स का ऐसा मानना है कि सही टूथब्रश की लम्बाई 25.5 से 31.9 मिलीमीटर होनी चाहिए और चौडा़ई 7.8 से 9.5 मिलीमीटर होनी चाहिए।



डेंटिस्ट से कब मिलें


अगर आपके दांतों पर काले-भूरे धब्बे नजर रहे हैं, खाना दांतों में फंसने लगा है, ठंडा-गरम लग रहा है या मसूड़ों से पस आ रहा है, तो डेंटिस्ट़ से मिलने में देरी ना करें। निश्चित समयांतराल पर (डेंटिस्टं) दंत चिकित्सक से मिलें।