Gharelu Nuskhe DetailBack

HospitalSKundali

इन आसान घरेलू तरीकों से आप दे सकते हैं पीलिया को मात

वायरल हैपेटाइटिस या जोन्डिस को साधारण लोग पीलिया के नाम से जानते हैं। यह रोग बहुत ही सूक्ष्‍म विषाणु;वाइरसद्ध से होता है। शुरू में जब रोग धीमी गति से व मामूली होता है तब इसके लक्षण दिखाई नहीं पडते हैंए परन्‍तु जब यह उग्र रूप धारण कर लेता है तो रोगी की आंखे व नाखून पीले दिखाई देने लगते हैंए लोग इसे पीलिया कहते हैं।
 
 
जिन वाइरस से यह होता है उसके आधार पर मुख्‍यतः पीलिया तीन प्रकार का होता है वायरल हैपेटाइटिस एए वायरल हैपेटाइटिस बी तथा वायरल हैपेटाइटिस नान ए व नान बी।

रक्त की कमी, त्वचा और आंखों का पीला होना। कमजोरी, सिरदर्द व बुखार, मिचली,,भूख न लगना, थकावट, कब्ज, आंख.जीभ.त्वचा और पेशाब का रंग पीला होना।
 
कैसा हो खानपान
 
*भोजन और नियमित व्यायाम करें। लेकिन स्थिति बेहद खराब हो तो आराम करना पांच दिन उपवास करें और इस दौरान फल जैसे संतराए नींबूए नाशपातीए अंगूरए गाजर चुकंदर व गन्ने का रस पिएं।
 
 *उपवास के बाद सुबह उठते ही एक गिलास गर्म पानी में एक नींबू निचोड़कर पिएं। नाश्ते में अंगूरए पपीता, नाशपती और गेहूं का दलिया लें।
 
*रोगी को रोजाना गर्म पानी का एनीमा दें। इससे आंतों में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं और रक्तसाफ होता है।
 
*मुख्य भोजन में उबली हुई पालकए मैथीए गाजरए गेहूं की दो चपाती और एक गिलास छाछ लें।
 
*दोपहर में नारियल का पानी लें।
 
*इस दौरान साफ या उबला हुआ पानी पिएं और घर से बाहर जाते समय पानी साथ लेकर जाएं।
 
*रात के भोजन में एक कप उबली हुई सब्जियों का सूपए गेहूं की दो चपातीए उबले हुए आलू और हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे मेथीए पालकए बथुआए सरसों आदि खाएं।
 
*रात को सोने से पहले एक गिलास फैट फ्री दूध में दो चम्मच शहद मिलाकर लें।
 
*प्रचुर मात्रा में हरी सब्जियों और फलों का जूस पिएं। नाशपाती खाने से लाभ होगा।
 
*दालों का उपयोग बिल्कुल न करें। लिवर कोशिकाओं की सुरक्षा के लिए दिन में 3.4 बार नींबू का रस पानी में मिलाकर पीना चाहिए।
 
*मूली के हरे पत्ते पीलिया में फायदेमंद हंै। इन पत्तों को  पीसकर इनका रस निकाल लें  और छानकर पिएं। इससे भूख बढ़ेगी और आंतें साफ होंगी।
 
*टमाटर का रस पीलिया में लाभकारी माना गया है। इस रस  में थोड़ा नमक और काली मिर्च मिलाकर पिएं।
 
*स्वास्थ्य सुधरने पर एक से दो किलोमीटर घूमने जाएं और कुछ समय धूप में रहें।
 
*पानी  साफ व उबालकर पीना चाहिए। घर से बाहर जाते समय पानी साथ लेकर जाएं।
 
*अब आपका भोजन ऐसा होना चाहिए जिसमें पर्याप्त प्रोटीनए विटामिन सीए ई और बी कॉम्प्लेक्स हों।
 
*पूरी तरह स्वस्थ होने के बाद भी भोजन के मामले में लापरवाही न बरतें।